सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना अब दिलायेगी बिजली की महंगाई से मुक्ति

सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना क्या है

सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना अब दिलायेगी बिजली की महंगाई से मुक्ति ।सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा देश में सोलर ऊर्जा को बढ़ावा दिया जाएगा।इस योजना के द्वारा बिजली उपभोक्ताओ को अपने घर की खाली पड़ी छत पर सौर पैनल लगवाना आसान हो जाएगा जिससे बिजली उपभोक्ता इस योजना का लाभ नागरिकों को मुफ्त मे बिजली मुहैया कराई जाएगी। इस योजना में 1 किलो वाट का सोलर पैनल लगाने के लिए 10 वर्ग मीटर स्थान की आवश्यकता पड़ती है और लगभग 25 साल तक सोलर पैनल का उपयोग करके लाभार्थियों को  लाभ पहुंचाया जाएगा। इस योजना मे लाभार्थी का जो भी खर्चा आयेगा वो खर्चा केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जाएगा जिसमे कुल खर्चा का 20% से 40% तक का खर्चा सरकार खुद उपभोक्ता को सब्सिडी के रूप मे ,इस योजना में लागत का भुगतान 5 से 6 साल में पूरा हो जाएगा जिससे बिजली उपभोक्ता आने 19-20 वर्षो तक इस योजना का नि:शुल्क लाभ लेता रहेगा।भारत के अंदर आज भी कुछ ऐसे पिछड़े इलाके हैं जहां पर बिजली की सुविधा उपलब्ध ही नहीं है ऐसे मे ये योजना उन पिछड़े इलाको मे रह रहे लोगो के लिए एक वरदान का काम करेगी |

सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना में आवेदन

 

  • सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना हेतु आप भारत सरकार द्वारा अधिकृत वैबसाइट  https://solarrooftop.gov.in/ के होमपेज पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है |
  • इसके बाद आप ‘Register Here  के विकल्प पर क्लिक करके आप संबन्धित जानकारी दर्ज करे |
  • अब आप Login Here वाले विकल्प पर क्लिक करके समस्त जानकारी दर्ज कर अपने कागजात अपलोड करेंगे
  • इस तरह सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना ( Solar Rooftop Subsidy Yojana ) में आपका आवेदन हो जाएगा !

अगर आपको सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना के बारे में अधिक जानकारी चाहिए तो आप टोल-फ्री नंबर 18001803333 पर संपर्क कर सकते हैं !

FAQ:-सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना से सम्बंधित सवाल-जवाब

QUESTION:-सौर ऊर्जा पैनल क्यूँ जरुरी है।

ANSWER:-सौर ऊर्जा में ऐसा कुछ भी नहीं है जो प्रकृति को प्रदूषित करता हो। सौर ऊर्जा कोई ग्रीनहाउस गैस नहीं छोड़ती है, और कार्य करने के लिए स्वच्छ पानी के स्रोत की आवश्यकता के अलावा, यह किसी अन्य संसाधन का उपयोग नहीं करती है। इसलिए, यह सुरक्षित और पर्यावरण के अनुकूल है।

QUESTION:-सोलर रूफटॉप सब्सिडी स्कीम क्या है?

ANSWER:-सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना देश में सौर ऊर्जा के उपयोग को प्रोत्साहित करने के लिए भारत सरकार की एक योजना है। यह योजना निश्चित रूप से देश में नवीकरणीय ऊर्जा के रोजगार को प्रोत्साहित करेगी क्योंकि सरकार उपभोक्ताओं को सौर छत स्थापना पर सब्सिडी प्रदान करती है।

QUESTION:-घर पर सोलर पैनल लगवाने में कितना खर्चा आता है?

ANSWER:-2 किलोवाट का सोलर पैनल लगवाने वाले उपभोक्ता को लगभग 1.20 लाख रुपये तक का खर्च आ सकता है. लेकिन 40 फीसदी सब्सिडी मिलने पर यही खर्च घटकर 72 हजार रुपये रह जाएगी और सरकार की ओर से आपको 48,000 रुपये की सब्सिडी मिल जाएगी

QUESTION:- 2 किलोवाट सोलर पैनल से क्या क्या चल सकता है?

ANSWER:-2KW सोलर सिस्टम प्रति दिन 8 यूनिट बिजली बनाता है, यह सिस्टम 8 एलईडी बल्ब, 3 पंखे, 1 फ्रिज और 1 कूलर जैसे घरेलू भार को चलाती है। साथ ही इससे आप घरेलू सबमसर्बिल पंप भी चला सकते हैं.

QUESTION:- सबसे अच्छा सोलर पैनल कौन सा है।

ANSWER:-सबसे अच्छा सोलर पैनल मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल होता है।

QUESTION:- सोलर प्लेट की लाइफ कितनी होती है?

ANSWER:-कुछ कंपनियों का दावा है कि सोलर पैनलों की उम्र 25 साल की होती है

QUESTION:-सबसे सस्ता सोलर पैनल कितने का आता है?

ANSWER:-यदि बात करे 1kW सोलर पैनल (Cost of 1kW Solar Panel) की कीमत की तो इसकी कीमत लगभग 35,000 रुपये से लेकर 35,000 रुपये तक मिलता है, ये निर्भर करता है सोलर पैनल की Technology, Quantity, Quality, Brand और उसके Service पर निर्भर करता है.

QUESTION:-अगर किसी घर की मासिक बिजली की खपत 400 यूनिट है तो कितने वाट के पैनल की आवश्यकता होगी?

ANSWER:-अगर 10 यूनिट हर रोज जरूरत है तो आप दो किलोवाट का सोलर पैनल लगवा सकते हैं. हर महीने 300 यूनिट बिजली की आवश्यकता है तो आपके लिए दो किलोवाट का पैनल ठीक रहेगा और इसमें अगर आपकी बिजली कम खर्च होती है तो आप बाकी बिजली सरकार को बेच सकते हैं. अगर 100 यूनिट भी हो रहा हो तो बाकी 200 यूनिट आप सरकार को बेच सकते हैं

Leave a Comment