एनएफसी(NFC) से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी

इस ब्लॉग मे आपको एनएफसी(NFC) से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी दी जायेगी सीधे शब्दो मे कहे तो NFC मतलब ‘Near Field Communication’, जैसे कि इसके नाम से ही पता चल रहा है कि ‘Near Field’ मतलब आस-पास यानि जो ज्यादा दूर न हो उस तक कम्यूनिकेट करना।एनएफसी एक ऐसी वायरलेस सेवा है, जो Bluetooth या Wifi के जैसी काम करके पेमेंट, डाटा सेंड करना या रिसीव करना या अन्य कई काम कर सकता है। यह Bluetooth की तुलना में 106-424 Kbps की Speed से Data Transfer कर सकता है। NFC ब्लूटूथ से बहुत ही अच्छा है| NFC तभी काम करता है जब आपके फ़ोन में NFC होता है और अगर आप किसी दूसरे Device से NFC Connect करना चाहते हैं तो इसके लिए सामने वाले के Mobile में भी NFC होना चाहिए। यदि आपके पास कोई दो ऐसे डिवाइसेज हैं, जिनमें NFC का फीचर मौजूद है तो आप उन दोनों डिवाइसेज के बीच Data का आदान-प्रदान कर सकते हैं।

एनएफसी(NFC) से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी
एनएफसी(NFC) से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी

दरअसल यह Bluetooth की तरह ही काम करने वाली एक वायरलेस टेक्नोलॉजी है जो दो Devices के बीच Data Transfer के लिए उपयोग की जाती है। इस तकनीक के माध्यम से हम दो devices के बीच, 10 cm की दूरी तक Data Exchange कर सकते हैं.NFC में Data transmission frequency 13.56 Megahertz होती है. जहाँ आप data को 106 kbps, 212 kbps या 424 kbps की speed से transfer किया जा सकता है. इस टेक्नोलॉजी में रेडियो फील्ड के जरिये डाटा ट्रांसफर किया जाता है।NFC के जरिए आपको Data Transfer करने के लिए bluetooth या wifi की तरह, किसी भी तरह के manual pairing या device search करने की जरूरत नहीं है. जैसे ही दो NFC Devices 10 cm की दूरी में एक दूसरे के संपर्क में आते हैं, ये automatically connect हो जाते हैं और communication शुरू कर देते हैं, इस दौरान devices user को संकेत भेजना शुरू कर देते हैं.

आपके फोन में NFC की सुविधा है तो आपको इसे enable करना होता है। जैसे ही आप enable करते हो तो आपके फोन के आसपास एक इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड क्रिएट हो जाती है और ऐसे में दूसरा कोई फोन जिसमें NFC enabled किया हुआ है उस डिवाइस या फोन को आपके फोन के नजदीक में लाया जाता है तो दोनों के बीच कम्युनिकेशन लिंक क्रिएट हो जाती है।
स्मार्टफोन तो हम सभी के पास होता है और उसमें ढेर सारे अलग-अलग फीचर भी होते हैं. अगर आपने गौर किया हो तो किसी-किसी के स्मार्टफोन में NFC नाम का एक फीचर होता है. काफी कम लोग NFC के बारे में जानते हैं. Mobile में NFC का इस्तेमाल कई जगहों पर कर सकते है जैसे की photos, videos भेजना, mobile payment करना इत्यादि। NFC का इस्तेमाल कई जगहों पर होता है।

Smartphones में NFC technology का इस्तेमाल काफी तेजी के साथ बढ़ रहा है. पहले इस तरह की technology केवल महंगे smartphones में ही देखने को मिलती थी, लेकिन आजकल यह Midrange Budget  के स्मार्टफोन में भी आने लगी है. यहाँ तक की Samsung Pay और Google Pay जैसे payment apps ने भी NFC technology का इस्तेमाल शुरू कर दिया है.

NFC TAG क्या है   

एनएफसी(NFC) से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी

भले ही आप ना जानते हो की NFC TAG क्या है लेकिन अपने जीवन मे आपने इसका उपयोग कभी ना कभी जरूर किया होगा या भविष्य मे करेंगे.NFC tag एक छोटा सा माइक्रो-चिप होता है जिसमे किसी छोटे डेटा या इनफार्मेशन स्टोर किया जाता है.ताकि आप जब भी उस टैग को किसी भी NFC डिवाइस के पास रखे तो वो कमांड रिसीव कर ले.

उदाहरण- जैसे मेट्रो ट्रेन के टोकन सिस्टम के बारे में तो हम सभी जानते है ,मेट्रो टोकन Passive NFC डिवाइस होता जिसे Active NFC डिवाइस यानि मेट्रो स्टेशन मे दाखिल होने के लिए हम एंट्री गेट पर मेट्रो टोकन टच है और टोकन टच करते ही एंट्री गेट खुल जाता है. क्यूंकि उस मेट्रो टोकन मे आप जिस स्टेशन से यात्रा कर रहे है और कहा तक जाएंगे यह सब जानकारी उस मेट्रो टोकन में दर्ज होती है | जैसे ही आप उस मेट्रो टोकन को  और Active NFC डिवाइस से टच करते है तो वो सारी जानकारी अपने सिस्टम में सेव कर लेता है.

Android पर NFC कैसे काम करते हैं?

आपके फोन में NFC की सुविधा है तो आपको इसे enable करना होता है। जैसे ही आप enable करते हो तो आपके फोन के आसपास एक इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड(Electromagnatic Field) क्रिएट हो जाती है और ऐसे में दूसरा कोई फोन जिसमें NFC enabled किया हुआ है उस डिवाइस या फोन को आपके फोन के नजदीक में लाया जाता है तो दोनों के बीच कम्युनिकेशन लिंक क्रिएट हो जाती है

NFC से स्मार्टफोन के द्वारा Payment करना:

जब आपको कही पर online payment करना होता है, तो आप debit card swipe machine में swipe करके पेमेंट करते है, लेकिन अब NFC द्वारा मोबाइल से पेमेंट करना बहुत आसान और सिक्युअर हुआ है। आप NFC mobile से आसानी से payment कर सकते है, इसके लिए आपके पास NFC enable mobile होना चाहिए, जिसमे आपके debit card की सब details save होनी चाहिए और बाद मे उस मोबाइल को swipe machine से touch करके आसानी से payment कर सकते है। NFC का एक फायदा यह है की, आपको debit या credit card अपने पास रखने की जरूरत नही पडती सिर्फ आपको इन card की पूरी details NFC mobile में save करनी होती है।

एनएफसी (NFC) के लाभ

एनएफसी उपयोग करने के काफी सारे फायदे है ,

  • NFC के जरिए आप अपने smartphone में wallet app की मदद से आसानी से cashless payment कर सकते हैं.
    इसका इस्तेमाल काफी तरह की एप्लीकेशन के लिए किया जा सकता है, जैसे किसी भी तरह के टिकट, reservation, banking, entry/exit passes इत्यादि.
  • यह customers और enterprises दोनों के लिए सुविधाजनक है.
  • इसमें connectivity स्थापित करने के लिए bluetooth या दूसरे wireless connection की तरह device को search या pairing करने की जरूरत नहीं पड़ती.
  • यह मौजूदा RFID networks के compatible है.
  • यह students और employees को उनके परिसर में एक secured access प्रदान करता है.
  • यह magnetic strip based debit और credit card की अपेक्षा अधिक secure होता है. इसमें भी PIN का इस्तेमाल होता है.
  • इसके लिए किसी special software की जरूरत नहीं पड़ती. इसके अलावा किसी तरह की manual configuration और settings की भी जरूरत नहीं पड़ती.
  • NFC का इस्तेमाल किसी workplace पर staff communication के लिए भी किया जा सकता है.
  • आप किसी smart poster से एक simple touch के जरिए अपने phone पर सभी informations निकाल सकते हैं.
  • क्रेडिट कार्ड की तुलना में एनएफसी enabled पेमेंट सिस्टम ज्यादा safe और secure माना जाता है।
  • यह versatile है यानी एनएफसी से बहुत सारे काम हो सकते है। जैसे की पेमेंट, टिकट बुकिंग, डेटा ट्रांसफर इत्यादि।
  • इसमें Bluetooth की तरह search और pair करने की आवश्यकता नहीं है। सिर्फ फ़ोन को नजदीक ले जाने से कनेक्शन बन जाता है।

FAQ:-NFC से जुड़े सवाल-जवाब

QUESTION.कौन सा ऐप एनएफसी पेमेंट सपोर्ट करता है?

ANSWER:– 4.0 ओएस या उससे ऊपर के एनएफसी सक्षम एंड्रॉइड या आईओएस स्मार्टफोन। मौजूदा डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड विवरण। एनएफसी भुगतान ऐप जैसे Google pay, Phonepe, Paytm आदि।

QUESTION.एनएफसी टैग में कितना डाटा स्टोर किया जा सकता है?

ANSWER:एनएफसी टैग की क्षमता उनके शामिल किए गए चिप के प्रकार के आधार पर भिन्न होती है, लेकिन उनकी भंडारण क्षमता आम तौर पर 96 और 512 बाइट्स के बीच होती है।

QUESTION.एनएफसी टैग किन चीजों में होते हैं?

ANSWER:कई नए क्रेडिट और डेबिट कार्डों में एनएफसी टैग शामिल होता है, इसलिए आप अपने कार्ड को स्वाइप करने या डालने के बजाय भुगतान टर्मिनल के ठीक ऊपर रख सकते हैं। अधिकांश आधुनिक फोन में एक एनएफसी चिप शामिल होती है, जो एनएफसी रीडर/राइटर और टैग दोनों के रूप में कार्य कर सकती है।

QUESTION.एनएफसी ब्लूटूथ से बेहतर क्यों है?

ANSWER:जब फ़ाइल स्थानांतरण की बात आती है, तो ब्लूटूथ तेज़ होता है, लेकिन एनएफसी अधिक सुरक्षित होता है और इसमें बैटरी की खपत कम होती है । एनएफसी का उपयोग अक्सर एक्सेस नियंत्रण के साथ-साथ भुगतान के लिए भी किया जाता है क्योंकि यह कम मात्रा में डेटा को सुरक्षित रूप से संचारित करने के लिए छोटी दूरी पर सबसे अच्छा काम करता है।

QUESTION.एनएफसी कितना तेज है?

ANSWER:एनएफसी 13.56 मेगाहर्ट्ज पर केंद्रित आवृत्ति रेंज में काम करता है और लगभग 10 सेंटीमीटर की दूरी के भीतर 424 kbit/s तक की डेटा ट्रांसमिशन दर प्रदान करता है।

QUESTION.एनएफसी की शुरुआत किस वर्ष में हुयी थी

ANSWER:NFC की शुरुआत 2002 वर्ष में हुई थी, जब यह पेमेंस सर्विस के लिए इस्तेमाल होने वाले स्मार्ट कार्ड के रूप में लॉन्च किया गया था।

QUESTION. एनएफसी(NFC) कितने प्रकार के होते है]

ANSWER: एनएफसी(NFC) दो प्रकार के होते है,

1.Active NFC

2.Passive NFC

Leave a Comment