दिव्यांग(विकलांग) पेंशन योजना उत्तर प्रदेश

राज्य सरकार उत्तर प्रदेश ने , उत्तर प्रदेश में रह रहे दिव्यांग(विकलांग) निवासियों को पेंशन प्रदान करती है। विकलांग पेंशन (या विकलांगता पेंशन) उत्तर प्रदेश में रहने वाले विकलांग व्यक्तियों के लाखों लोगों को बुनियादी सहायता प्रदान करने के लिए है|

फिर चाहे वो राज्य सरकारें हों या फिर केंद्र सरकार, ये दोनों ही समाज के विभिन्न वर्गों को अलग-अलग तरह की योजनाओं के जरिए मदद पहुंचाते हैं। ऐसी ही एक योजना है दिव्यांग(विकलांग) पेंशन योजना, जिसे उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत यूपी सरकार पात्र लोगों को हर माह एक हजार रुपये की पेंशन दे रही है।

दिव्यांग(विकलांग) सम्बन्धी दस्तावेज

सर्वप्रथम दिव्यांगजन आवेदक के पास निम्नलिखित कागजात होने आवश्यक हैं – कम से कम 40 प्रतिशत दिव्यांगता का प्रमाण-पत्र, गरीबी  रेखा के नीचे का आय प्रमाण-पत्र जिसमे वार्षिक आय 46080/-रूपये से ज्यादा न हो , आयु 18 वर्ष या उससे अधिक, बैंक पासबुक फोटोकॉपी , ग्रामीण क्षेत्रो के लिए – ग्राम सभा का प्रस्ताव जोकि ग्राम पंचायत सचिव द्वारा जारी किया जाता है |

कुष्ठा पेंशन अनुदान (दिव्यांग पेंशन) योजना

कुष्ठ रोग के कारण दिव्यांग हुए ऐसे सभी दिव्यांगजन, जो उत्तर प्रदेश के मूल निवासी हैं तथा जिनकी आय गरीबी की रेखा (वर्तमान में ग्रामीण क्षेत्रों में रू0 46080/-तथा शहरी क्षेत्रों में रू0 56460/- प्रति परिवार प्रति-वर्ष ) की सीमा के अन्दर हैं एवं शासन द्वारा संचालित अन्य कोई पेंशन का लाभ न प्राप्त कर रहे हो को प्रदेश से सम्बन्धित जनपद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा जारी दिव्यांगता प्रमाण पत्र (चाहे दिव्यांगता का प्रतिशत कुछ भी हो) के आधार पर रू0 3000/- प्रति माह प्रति लाभार्थी की दर से अनुदान दिया जाता है।

पेंशन हेतु आवेदन कहाँ और कैसे भरें?

आवेदक को वेबसाइट के URL LINK www.sspy-up.gov.in  पर “दिव्यांग पेंशन” का चयन करें और फिर “ऑनलाइन आवेदन करें” विकल्प का चयन करें  का चयन करें और आवेदन पत्र में अपनी बेसिक जानकारी भरें। दिव्यांग पेंशन के लिए दिव्यांग के प्रकार का चयन करें और कुष्ठ रोग के लिए दिव्यांग के प्रकार में कुष्ठ रोग का चयन करें। आवेदन फॉर्म भरने के बाद अपना आवेदन जिला दिव्यांग जन कल्याण अधिकारी के मुख्य कार्यालय में जाकर अपना आवेदन समस्त कागजात आधार कार्ड ,बैंक कॉपी ,विकलांग प्रमाण पत्र ,आय प्रमाण पत्र आदि जमा कर दे |

दिव्यांग पेंशन योजना सत्यापन  कार्यवाही

दिव्यांग(विकलांग ) व्  कुष्ठा पेंशन हेतु ऑनलाइन आवेदन जमा करने के बाद आवेदन जिला दिव्यांग जन कल्याण अधिकारी को फॉरवर्ड कर दिया जाता है ,अगर आपका आवेदन पात्र श्रेणी के अंतर्गत आता है तो जिला दिव्यांग जन कल्याण अधिकारी उसको स्वीकृत कर आपका आवेदन पी.एफ.एम्.एस से खाता सत्यापन हेतु भेज दिया जाता है | जैसे ही आपका आवेदन पी.एफ.एम्.एस से सत्यापित हो जाता है उसके बाद आपके बैंक खाते का दोबारा सत्यापन किया जाता है |उसके बाद पेंशन आवेदक को पेंशन का लाभ मिलना शुरू हो जाता है |

उत्तर प्रदेश दिव्यांग(विकलांग) पेंशन योजना

 

FAQ:-दिव्यांग और कुष्ठ पेंशन से सम्बंधित सवाल जवाब

प्रश्न : क्या आवेदक एक बार में दिव्यांग और कुष्ठ पेंशन दोनों का लाभ उठा सकता है।

उत्तर:  – नहीं। आवेदक उल्लेख पेंशन से एक बार में केवल एक पेंशन (वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन, दिव्यांग पेंशन और कुष्ठ पेंशन) प्राप्त कर सकता है।

प्रश्न : क्या आवेदक एक ही या विभिन्न पेंशन योजनाओं के लिए एक से अधिक आवेदन कर सकता है?

उत्तर: – नहीं। किसी भी पेंशन का लाभ उठाने के लिए केवल एक आवेदन भरना है। यदि आवेदक द्वारा अधिक आवेदन भरा जाता है तो आवेदक से संबंधित सभी अभिलेखों को डुप्लिकेट खाता विवरण के रूप में खारिज कर दिया जाता है, इस प्रकार कोई भी आवेदन लाभान्वित नहीं होगा। आवेदक फिर से तभी आवेदन कर सकता है जब उसका पिछला आवेदन जिला द्वारा रोक दिया जाता है। इसके अलावा यह डुप्लीकेट खाता विवरण के आवेदक के पूर्ण जवाबदेही होगा।

प्रश्न : “ग्राम सभा प्रस्ताव” क्या है और आवेदक को “ग्राम सभा प्रस्ताव”कहाँ से मिल सकता है?

उत्तर: – “ग्राम सभा प्रस्ताव” एक प्रमाण पत्र है जो उस ग्राम में निवास की पहचान का प्रमाण देता है और इसे “ग्राम पंचायत सचिव” से  प्राप्त किया जा सकता है।

प्रश्न : विकलांग पेंशन से सम्बंधित जानकारी कहाँ  से  प्राप्त करें ?

उत्तर: अधिक जानकारी के लिए आवेदक अपने जनपद के दिव्यांगजन कल्याण अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं या दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग हेल्पलाइन नंबर 18001801955 पर कॉल कर सकते हैं: – 18001801955

प्रश्न : विकलांग प्रमाण पत्र से क्या लाभ है?

उत्तर: अगर कोई भी दिव्यांग व्यक्ति अपना यू पी विकलांग सर्टिफिकेट बनवा लेता है। तो उसे सीधे सीधे सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी प्रकार की दिव्यांग योजनाओं का लाभ मिल सकता है। शारीरिक अक्षमता से पीड़ित दिव्यांग बच्चों को सरकार द्वारा मुफ्त शिक्षा दी जाती है। दिव्यांग जनों को सरकारी नौकरियों में आरक्षण का लाभ मिलता है।

प्रश्न : विकलांग पेंशन लिस्ट कैसे निकलेगी

उत्तर:विकलांग पेंशन संबंधी लिस्ट आप https://sspy-up.gov.in/reportnew/handiReportDistrictVise_2122.aspx?s=HandicapPension_2223  वैबसाइट लिंक पर जाकर चेक कर सकते है

प्रश्न : यूपी में पेंशन कब आएगी?

उत्तर: पेंशन लाभार्थियो के अप्रैल, मई ,जून की पेंशन रुकी हुई है. विभाग द्वारा जारी नई अपडेट के अनुसार 15 जुलाई से पहले सभी पेंशन लाभार्थियों को पैसे, बैंक खाते में मिल जायेंगे.

प्रश्न : विकलांग पेंशन का सत्यापन कब व् किस महीने में किया जाता है? 

उत्तर: प्रदेश सरकार द्वारा हर ग्रामसभा व तहसील स्तर पर दिव्यांग पेंशन धारकों का  फ़िज़िकल वेरीफिकेशन प्र्तिवर्ष जो की ग्राम पंचायत के ग्राम सचिव द्वारा किया जाता है

Leave a Comment